कंगना रनौत: अब मैं पीछे हट गई, तो गलत होगा

kangana-hrithik-story-647_090817053945

अपने दम पर बॉलिवुड में सफलता हासिल करने वालीं कंगना रनौत अपनी प्रतिभा और बेखौफ व्यक्तित्व के चलते बहुतों की रोल मॉडल बन चुकी हैं। इंडस्ट्री के बड़े-बड़े नामों की कलई खोलकर उनसे नाराजगी मोल लेने वालीं कंगना बेहद हिम्मत से विवादों का सामना करती हैं और आरोपों के जवाब देती हैं। उन्होंने हमसे खुलकर बातचीत की :

आपके बेबाक अंदाज से बहुत से लोग प्रेरित होते हैं, तो कई आपसे बेहद नाराज हैं…आखिर इस छरहरी सी लड़की में इतनी हिम्मत कहां से आती है?
जैसी भी मेरी जिंदगी के हालात रहे हैं, कई बार मैं खुद एकदम से चौंक जाती हूं कि ये क्या हो गया। ऐसा नहीं है कि मुझे डर नहीं लगता। जब इतने सारे लोग एक साथ इकट्ठे हो जाते हैं एक लड़की के खिलाफ, तब भी मुझे डर लगता है। लेकिन फिर उनका सामना करने के अलावा मेरे पास कोई और ऑप्शन नहीं होता। ऐसा नहीं है कि मैं पीछे हट जाऊं, तो ये लोग पीछे हट जाएंगे। जब आप पर इतने लोग अटैक कर रहे हैं, जो आपको जीने नहीं देना चाहते। काम नहीं करने देना चाहते। यहां रहने नहीं देना चाहते, तो लगता है कि ये हर लिहाज से गलत है। अगर आप भी इन गलत लोगों में मिल जाएंगे और जैसा वे चाहते हैं, वही करने लगेंगे तो आप भी गलत ही हैं। इसलिए चाहे आप आगे बढ़ पाएं या नहीं। आपका सफर आगे बढ़ पाए या यहीं खत्म हो जाए, इससे फर्क नहीं पड़ता। फर्क इससे पड़ता है कि आप उनके साथ नहीं मिलें, जो गलत हैं। आपने कहा कि ये गलत है। मुझे नहीं पता कि आगे क्या होगा, मुझे ये भी नहीं पता कि मेरा सफर आगे बढ़ेगा या नहीं। मुझे ये पता है कि इस तरह से दूसरों के काम में टांग अड़ाना सही नहीं है और अगर मैं पीछे हट गई, तो कहीं न कहीं गलत उदाहरण बन जाएगा कि देखा, ज्यादा आजादी से जीने का नतीजा क्या हुआ। ऐसे लोगों के साथ ऐसा ही होता है…वगैरह वगैरह। जो अच्छा नहीं होगा, इसलिए मुझे गलत के खिलाफ खड़ा होना ही पड़ेगा।

कहावत है कि पानी में रहकर मगरमच्छ से बैर नहीं करना चाहिए। आपने इतने लोगों से पंगा लिया है। नहीं लगता कि यह करियर के लिए नुकसानदेह है? 
शुरू में मैंने भी बहुत डर-डर के काम किया हुआ है। बहुत ज्यादा बेइज्जती भी सही है। अब मुझे लगता है कि मैं बहुत सक्सेसफुल हूं। मैंने तीन नैशनल अवॉर्ड जीते हैं। इसके बाद मुझे काम नहीं भी मिलता है, तो ठीक है। सारी जिंदगी तो इंसान डर-डर के काम नहीं कर सकता। शायद मेरी कहानी ऐसे ही याद की जाएगी कि एक बहुत सक्सेसफुल ऐक्ट्रेस थी, जिसने ऐसे आवाज उठाई… तो ठीक है। मुझे क्या है, मैंने मनाली में इतना अच्छा घर बनाया हुआ है। मैं वापस चली जाऊंगी। ऐसा तो नहीं है कि मैं कुछ और नहीं कर सकती हूं। मैं किताबें लिख सकती हूं। मैं फिल्में डायरेक्ट कर सकती हूं साल-दो साल में कभी। मेरे लिए वह भी काफी अच्छी जिंदगी है, लेकिन इस तरह के जो दुष्ट लोग हैं, जो आपको डराते हैं, बुलिंग करते हैं, उनके आगे झुक जाना तो फिर मौत से भी बदतर है।

‘क्वीन’ और ‘तनु वेड्स मनु 2’ की सक्सेस के बाद सारे बड़े ऑफर्स आपके पास आ रहे थे। आप इस स्टारडम को लंबे समय तक बरकरार रख सकती थीं, पर आपने कहा कि अब ऐक्टिंग नहीं डायरेक्शन करेंगी।
ऐसे तो इंसान की जिंदगी चलती ही जाएगी। अभी कुछ है, फिर कुछ और आ जाएगा, कभी-कभी इंसान को एक कदम पीछे लेकर भी सोचना चाहिए कि वह क्या चाहता है। मैं यहां जितना करने आई थी, जो सोचा था, उससे ज्यादा कर लिया है। अब उसके बाद जो भी हो, वह बोनस है। थोड़ी मनमर्जी भी करनी चाहिए कि इतना तो मैंने मेहनत करके अचीव कर लिया है। मैं सोलह-सत्रह साल की छोटी उम्र से काम कर रही हूं। अब मैं अपने मन का काम कर करूंगी। अब भी मैं उसी दौड़ में लगी रहूं, वह मुझे ठीक नहीं लगता। जब मेरी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी तो मजबूरी में कभी मैंने एक-दो स्टेज शो भी किए हैं। फिर ठीक हो गई, तो फेयरनेस क्रीम के ऐड नहीं करने, स्टेज शो नहीं करना या फालतू के जो रोल हैं वह नहीं करने। तब भी मैं यही सोचती रहूं कि अब तो पैसा आ रहा है, तो और जमा कर लूं तो उसमें क्या फायदा! पहले भी वही करते थे, अब भी करते रहो तो फिर तो आप बिल्कुल आम बन जाएंगे।

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Don't have account. Register

Lost Password

Register