मुख्यमंत्री ने दिए यात्रा व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के निर्देश

14_05_2016-14harish-rawat.jpg

मुख्यमंत्री ने दिए यात्रा व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के निर्देश

देहरादून। मुख्यमंत्री हरीश रावत ने इस वर्ष श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए केदारनाथ धाम में एक हजार अतिरिक्त यात्रियों के रहने के पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। साथ ही अन्य व्यवस्थाएं भी चाक-चौबंद करने को कहा।
बीजापुर हाउस में चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि पिछले वर्ष की सफल चार धाम यात्रा से देश विदेश में सकारात्मक संदेश गया है। उसी का परिणाम है कि इस वर्ष श्रद्धालुओं की संख्या पिछले वर्षों की तुलना में दोगुने से अधिक है।
उन्होंने कहा कि तीर्थ यात्रियों व श्रद्धालुओं के लिए हर प्रकार की सुविधाएं जुटाई जाएं। उन्हें किसी प्रकार की दिक्कतों का सामना न करना पड़े, इस ओर विशेष ध्यान दिया जाए। आगामी मानसून को ध्यान में रखते हुए इस प्रकार की व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर ली जाएं कि यात्रा मार्ग बंद होने की दशा में जल्द खोल दिया जाए। उन्होंने सिरोबगड़, घोलतीर, मैठाणा आदि भूस्खलन की दृष्टि से संवेदनशील स्थानों पर भी पुलिस चौकी बनाने को कहा। साथ ही यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए सुलभ शौचालयों का निर्माण भी यात्रा मार्गों में कराने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि केदारनाथ धाम में श्रद्धालुओं को दिए जा रहे भोजन की गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखा जाए। यदि महिला स्वयं सहायता समूह या स्थानीय लोग भोजन बनाने की पेशकश करते हैं तो उन्हें भी प्राथमिकता दी जाए।
मुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग, बीआरओ व कार्यदायी संस्थाओं को मार्गों में और अधिक सुधार लाने के निर्देश दिए है। उन्होंने आईजी संजय गुंज्याल एवं जीएमवीएन के एमडी रवि शंकर को निर्देश दिए कि आगामी 10 दिनों में केदारनाथ में लगभग एक हजार अतिरिक्त श्रद्धालुओं के ठहरने की व्यवस्था की जाए। साथ ही उन्होंने यात्रा मार्गों में पेयजल, स्वास्थ्य, विद्युत आदि मूलभूत सुविधाओं की आपूर्ति के निर्देश दिए।

14 May 2016 11:27:19 GMT
Source: http://www.jagran.com/uttarakhand/dehradun-city-14012999.html

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Don't have account. Register

Lost Password

Register