जिस देश का हीरो सैनिक नहीं, उसका कोई भविष्य नहीं: तरुण विजय

19_05_2016-19tarunvijay.jpg

जिस देश का हीरो सैनिक नहीं, उसका कोई भविष्य नहीं: तरुण विजय

देहरादून। राज्यसभा सांसद तरुण विजय ने आज जोहड़ी के नाईवाला गांव में अपनी प्रदेश व्यापी सैनिक सम्मान यात्रा का शुभारंभ किया और सैनिकों के प्रति सिस्टम के उदासीन रवैये पर तीखा हमला बोला। तरुण विजय बोले ‘ जिस देश का हीरो सैनिक नहीं होता, उस देश का कोई भविष्य नहीं होता। सैनिक आखिरी सांस तक देश रक्षा के लिए लड़ता है।

सियाचिन में बर्फ में खड़े होकर भारत माता की रक्षा करता है। पर, जब बात शहीदों के लिए शौर्य स्थल निर्माण की आती है तो जमीन का एक टुकड़ा तक नहीं मिलता। जबकि, किसी नेता को चंद मिनट में जमीन मिल जाती है।

उत्तराखंड में कोई भी सरकार रही हो, लेकिन 15 साल में जगह नहीं मिली। जिसने जमीन तलाशी तो अपने टांग खींचने लगे। तमाम प्रयासों के बाद देहरादून में शौर्य स्थल की नींव रखी जा सकी।

सांसद बोले कि ऐसा क्यों है। किसी नेता का निधन होता है तो बाजार बंद हो जाते हैं। पर, जब कोई सैनिक शहीद होता है तो श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए नेताओं के पास समय तक नहीं होता। नेताओं के नाम पर सड़क और चौराहों के नाम होते हैं तो सैनिकों के क्यों नहीं।

नेता हारते रहे हैं, लेकिन सैनिक कभी नहीं हारते। हम भारत के महान होने की बात करते हैं। अमेरिका में जब किसी शहीद का शव उसके शहर पहुंचाता है तो हर एक नागरिक श्रद्धांजलि अर्पित करता है। लोग अपने बच्चों को बताते हैं कि इस व्यक्ति ने राष्ट्र के लिए खुद को न्योछावर कर दिया। हम ऐसा क्यों नहीं कर सकते।

उन्होंने कहा कि 1971 में भारतीय सेना ने युद्ध जीता और तत्कालीन सरकार ने उनकी पेंशन में 20 फीसद की कटौती कर दी। तब से ही वन रैंक-वन पेंशन की मांग चली आ रही थी, जो अब जाकर पूरी हुई। बोले, अब उनकी बची हुई अधिकांश सांसद निधि सैन्य बाहुल गांवों में ही खर्च होगी। ऐसे गांव में एक सैनिक प्रमुख बनाया जाएगा, जो विकास कार्यों की निगरानी करेगा।

तरुण विजय ने पूर्व सैनिक वेलफेयर एसोसिएशन के केंद्रीय महासचिव आरडी शाही को नाईवाला गांव का सैनिक प्रमुख घोषित किया। साथ ही गांव में बनने वाले सामुदायिक भवन के लिए सांसद निधि से चार लाख रुपये देने की घोषणा की।

इस दौरान उन्होंने सामुदायिक भवन का भूमि पूजन भी किया। इस मौके पर भाजपा नेता जोगेंद्र सिंह पुंडीर, ग्राम प्रधान दुर्गेश गौतम, राजकुमार जायसवाल, श्याम सिंह क्षेत्री, मनोहर वोहरा, गोपाल सिंह थापा, राजेश बहादुर थापा, अमृता शाही, गुड्डी थापा, आनंद कुमार आदि मौजूद रहे।

पढ़ें:- पंद्रह साल तक नेताओं ने प्रदेश को लूटाः तरुण विजय

19 May 2016 16:00:00 GMT
Source: http://www.jagran.com/uttarakhand/dehradun-city-14038531.html

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Don't have account. Register

Lost Password

Register