नेपाल में नए सिरे से आंदोलन करेंगे मधेशी

13_05_2016-madheshi.jpg

नेपाल में नए सिरे से आंदोलन करेंगे मधेशी

काठमांडू, प्रेट्र। अंदरुनी मतभेदों के चलते अपने अस्तित्व के लिए संघर्षरत नेपाल की ओली सरकार की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अब मधेशी आंदोलनकारी नेपाल सरकार के खिलाफ राजधानी काठमांडू में नए सिरे से मोर्चा खोलने जा रहे हैं।

सात मधेशी पार्टियों ने करीब दो दर्जन स्थानीय समूहों के साथ मिलकर अपने आंदोलन को फिर से तेज करने का फैसला शुक्रवार को लिया। इसके तहत उनका आंदोलन शनिवार से अपने प्रभाव क्षेत्रों से दूर राजधानी काठमांडू में धरना-प्रदर्शन के साथ शुरू हो जाएगा। इस मौके पर राजधानी के रत्ना पार्क में मधेशियों की विशाल प्रतिकार रैली आयोजित की गई है।

पढ़ेंः नेपाल में हालात गंभीर, पीएम मोदी व शरद यादव से मिलने पहुंचे मधेशी नेता

इसके अगले दिन यानी रविवार से आंदोलनकारी सरकार के मुख्यालय सिंह दरबार सचिवालय के सामने अपना बेमियादी धरना शुरू कर देंगे। मधेशी समुदाय के लोग और अधिक अधिकार देने, सरकारी संगठनों में ज्यादा प्रतिनिधित्व, संविधान को दोबारा लिखने और प्रांतीय सीमाओं का फिर से सीमांकन करने की मांग कर रहे हैं। इसको लेकर मधेशी संगठनों ने पिछले साल भारत से सटे सीमावर्ती क्षेत्रों में लगातार छह महीने तक जोरदार आंदोलन किया था। जिसके कारण भारत-नेपाल सीमा स्थित चेकपोस्टों की नाकेबंदी कर दी गई थी। लेकिन इस बार इन दलों ने अपनी रणनीति में व्यापक बदलाव करते हुए राजधानी काठमांडू को आंदोलन का मुख्य केंद्र बनाया है।

शुक्रवार को काठमांडू में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में मधेशी दलों ने आंदोलन की रूपरेखा घोषित की। फेडरल सोशलिस्ट पार्टी के उपेंद्र यादव के हस्ताक्षर से जारी बयान में इन दलों ने संविधान में किए पहले संशोधन को सिरे से खारिज कर दिया। इनका कहना है कि यह हमारी मांगों को पूरा करने में असफल साबित हुआ है। मधेशी दलों ने ओली सरकार द्वारा हाल में किए 21 राजदूतों सहित अन्य राजनीतिक नियुक्तियों पर सवालिया निशान लगाया है।

पढ़ेंः मधेशी चाह रहे मोदी का दखल

13 May 2016 17:01:42 GMT
Source: http://www.jagran.com/news/world-madhesi-been-renewed-movement-in-nepal-14010916.html

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Don't have account. Register

Lost Password

Register